Sukun Shayari In Hindi सुकुन शायरी हिंदी में Sukun Shayari In Hindi

Spread the love

Best Love Shayari in Hindi images, Love you Shayari, Love Shayari, Best Love Shayari, Best Love Shayari in Hindi, Love Shayari Photo, Love Shayari Images, Love Shayari Pic, Love Shayari In Hindi, Hindi Love Shayari

Best Love Shayari in Hindi images

प्यार कोई दीया नहीं,

जब चाहा जला दिया बोझा दिया,

ये बालू का महल नहीं,

जब चाहा बना लिया मिटा दिया ,

ये रस है जो दिल की गहराइयों से निकलता है,

ये बच्चो का खेल नहीं,

जिसे चाहा हरा दिया जीता दिया !

Love you Shayari

दुआओ में खुदा से आपकी खुशियाँ मांगते हैं,
हम तो दुआ में सिर्फ आपकी हँसी मांगते हैं,
हम मांगे भी तो आपसे क्या मांगे,
फिर सोचा आपसे आपका प्यार मांगते हैं।

Love Shayari

कितना सुकून इस दिल को मिलता है जब उनसे बात होती है,
कितनी मुद्दतो में वो एक शाम आती है,
जब वो हमे अपनी पलके उठा कर देखते हैं,
मेरे लिए तो बस वही मेरी कायनात होती है।

Best Love Shayari

अपनी जुल्फों को मेंरे चेहरे पर बिखरा दिया करो कभी कभी,
बारिश की तरह बरस जाया करो मुझ पर कभी कभी,
तुम खुशबु बन कर मेरी दिल की गली से गुजर जाओ कभी कभी,
तुम फूल बन कर मुझ पर बिखर जाओ कभी कभी।

Best Love Shayari in Hindi

न गुलफाम मांगते है न कोई सलाम मांगते है
न कोई मुबारक मांगते है न कोई पैगाम मांगते है,
जो गहराई से हमारे ऊपर चढ़ जाये,
हम तो बस ऐसा नशा मांगते हैं।

Love Shayari Photo

तुझे अपनी पलको पे बिठाऊँ कभी मेरी जिंदगी में आ,
तुझे अपनी बाहों में सजाऊँ कभी मेरी जिंदगी में आ,
गजब की खूबसूरती दी है ऊपर बाले ने तुझे,
तुझे अपनी जिंदगी में बसालूँ कभी मेरी जिंदगी में आ।

Love Shayari Images

आप कब हमसे प्यार का इज़हार करोगे,
आप कब हमारे प्यार में अपना दिल बेकरार करोगे,
एक एक रात सिर्फ आपकी याद में गुजरती है,
आप कब हमारा भी इंतज़ार करोगे।

Love Shayari Pic

हम सिर्फ तुझे अपना बनाना चाहते हैं,
हम तो सिर्फ तुझे दिल में बसाना चाहते है,
तू चाहे या न चाहे तेरी मर्जी,
पर हमतो तेरे इश्क में मर जाना चाहते हैं।

Love Shayari In Hindi

काश खुशियों की कोई दुकान होती,
काश मुझे उसकी पहचान होती,
हर ख़ुशी उसके लिये खरीद लेता,
चाहे उसकी कीमत मेरी जान होती।

Hindi Love Shayari

कुछ रिश्ते ऐसे होते है इन्हें नाम न दिया करो तुम,
कुछ रिश्तो को ऐसे ही चलने दिया करो इन्हें इल्जाम न दिया करो तुम,
इन लफ़्ज़ों में यूँ ही कशिश रहती है,
इन लफ़्ज़ों को कोई अंजाम न देना तुम।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *